Home उत्तर प्रदेश दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय को डां. सुजाता और उनके ग्रुप के द्वारा दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय के 50 सदस्यों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई

दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय को डां. सुजाता और उनके ग्रुप के द्वारा दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय के 50 सदस्यों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई

by Shrinews24
0 comment

दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय को डां. सुजाता और उनके ग्रुप के द्वारा दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय के 50 सदस्यों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई


श्री न्यूज 24/ दैनिक अदिति न्यूज़
सूर्यांश श्रीवास्तव
जिला थाना प्रभारी
प्रयागराज

दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय को डॉक्टर सुजाता और उनके ग्रुप के द्वारा दुर्ग जिले के तृतीय लिंग समुदाय के 50 सदस्यों को सूखा खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई है जब से देश में लॉकडाउन लगा है तब से तृतीय लिंग समुदाय की स्थिति भी काफी दयनीय हो चुकी है यह समुदाय लोगों के खुशियों में नाच गाकर बधाई मांग कर लोगों के घरों में काम कर अपना जीवन यापन करते है लेकिन जबसे कोरोना महामारी हमारे देश में आई है तब से किन्नरों की स्थिति काफी दयनीय हो चुकी है लोग इनको आपने खुशियों में शामिल नहीं करते हैं आज उनके पास खाने के लिए ना तो राशन है ना ही कोई भी चीज की व्यवस्था है और ना ही मकान का किराए पटाने के लिए उनके पास पैसे हैं लगातार मकान मालिक द्वारा मकान का किराया पटाने के लिए दबाव बनाया जाता है इसके चलते ना चाहते हुए भी यह समुदाय अपने घरों से रोजी रोटी के लिए बाहर निकल रहे हैं और लगातार अधिकतर लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं और किन्नर समुदाय के द्वारा सरकार से जिला प्रशासन से लगातार अपील की जा रही है कि इनको आर्थिक मदद की जाए इनको राशन की व्यवस्था की जाए लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं गया लेकिन कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इस समुदाय की तरह अपना ध्यान आकर्षण किया की समस्याओं को समझते हुए इनके लिए सूखा खाद्य सामग्री उपलब्ध कराया गया जिसे पाकर इस समुदाय के सदस्यों के चेहरों में काफी खुशी देखा जा सकता है लेकिन समुदाय प्रमुख कंचन सेंद्रे का कहना है सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ-साथ सरकार एवं जिला प्रशासन को भी इस समुदाय की तरफ ध्यान देना पड़ेगा क्योंकि ज्यादातर तृतीय लिंग समुदाय के लोग रोजी मजदूरी करके लोगों के घरों में नाच गाकर अपना जीवन यापन करते हैं लेकिन जब से लॉक डाउन लगा है इनके पास खाने-पीने के लाले पड़ चुके हैं लोग साहूकारों से पैसे ब्याज दर पर लेकर कर्ज में डूब चुके हैं जिसकी सूचना जिला प्रशासन एवं राज्य सरकार को भी पत्र के माध्यम से दी जा चुकी है बावजूद इसके की कोई भी इस समुदाय की तरफ ध्यान नहीं दे रहा है कंचन सेंद्रे एवं समुदाय के सभी सदस्यों ने भिलाई नेहरू नगर निवासी डॉक्टर सुजाता और उनकी पूरी टीम का बहुत-बहुत धन्यवाद ज्ञापित किया जिन्होंने इस कोरोना काल में इस समुदाय की तरफ अपना ध्यान आकर्षण करके इनकी मदद की है

You may also like

Leave a Comment