Home उत्तर प्रदेश वर्ल्ड रेड क्रॉस डे पर अग्रवाल महाविद्यालय के द्वारा एक राष्ट्रीय वेबनियर का आयोजन किया गया

वर्ल्ड रेड क्रॉस डे पर अग्रवाल महाविद्यालय के द्वारा एक राष्ट्रीय वेबनियर का आयोजन किया गया

by Shrinews24
0 comment

वर्ल्ड रेड क्रॉस डे पर अग्रवाल महाविद्यालय के द्वारा एक राष्ट्रीय वेबनियर का आयोजन किया गया जिसकी विधिवत शुरुआत महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ कृष्ण कांत गुप्ता ने की डॉ गुप्ता ने बताया कि देश के सुप्रसिद्ध शिक्षाविद समाजशास्त्री दार्शनिक प्रोफ़ेसर एमपी सिंह आज इस वेबनियर को संबोधित करने जा रहे हैं डॉ एमपी सिंह रेड क्रॉस सोसायटी तथा सेंट जॉन एंबुलेंस इंडिया के आजीवन सदस्य है तथा फर्स्ट एड और होम नर्सिंग के अधिकृत प्रवक्ता है डॉ एमपी सिंह फरीदाबाद जिला प्रशासन के द्वारा संचालित कंट्रोल रूम के कोऑर्डिनेटर तथा चीफ वार्डन सिविल डिफेंस और विषय विशेषज्ञ आपदा प्रबंधन है इस कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर डॉ सुभाष ने विभिन्न जिलों से जुड़ने वाले वाईआरसी कोऑर्डिनेटर्स का स्वागत किया और रिसोर्स पर्सन डॉ एमपी सिंह को विस्तार पूर्वक जानकारी देने के लिए आमंत्रित किया तथा बताया कि आज का विषय रोल ऑफ वॉलिंटियर्स ड्यूरिंग कोविड-19 है इस अवसर पर डॉ एमपी सिंह ने कहा कि रेड क्रॉस के जनक हेनरी ड्यूना के जन्म के उपलक्ष में प्रतिवर्ष 8 मई को वर्ल्ड रेड क्रॉस डे मनाया जाता है जिस पर उनके जीवन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी जाती है क्योंकि उन्होंने ही जेआरसी और वाईआरसी का गठन किया था जिनके स्वयंसेवक आज हेनरी ड्यूना के पद चिन्हों पर चलकर वैश्विक महामारी कोरोना के इस संकटकाल में मानवता की रक्षा और के लिए कार्य कर रहे हैं रेड क्रॉस सोसाइटी के स्वयंसेवक हमेशा जरूरतमंदों तथा आपदा प्रभावित लोगों की मदद के लिए तत्पर रहते हैं और निस्वार्थ भाव से मानवता की सेवा में समर्पित रहकर पुलिस और प्रशासन का साथ व सहयोग देते हैं डॉ एमपी सिंह ने कहा की वाईआरसी के जवान और उनके कोऑर्डिनेटर अपने अपने जिले में जिला प्रशासन के साथ मिलकर अपनी सेवाएं दे सकते हैं जिनका प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से समाज के लोगों को फायदा मिलता है जैसे होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की काउंसलिंग करना सोशल मीडिया के द्वारा व्हाट्सएप फेसबुक पर जागरूकता फैलाना जूम मीटिंग करके लोगों को जागरूक करना असहाय संक्रमित मरीजों को भोजन दवाई पानी ऑक्सीजन उपलब्ध कराना तथा उनकी हौसला अफजाई करना उनके सगे संबंधियों तथा परिवारीजनों को हौसला देना मास्क लगाने के लिए तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने और बार-बार सैनिटाइज करने के लिए जागरूक करना सरकार के दिशानिर्देशों को जन-जन तक पहुंचाना ईमानदारी और मानवता का परिचय देना अंत में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ केके गुप्ता ने डॉ एमपी सिंह की कार्यशैली और समर्पण भाव को देखते हुए वर्तमान के हेनरी डीयूना बताया तथा नेशनल वेब नियर से जुड़ने वाले काउंसलर कन्वीनर तथा विद्यार्थियों का धन्यवाद किया और डॉ एमपी सिंह का आभार व्यक्त किया अंत में डॉ एमपी सिंह ने नेशनल वेबनियर से जुड़ने वाले सभी साथियों को शपथ दिलाई कि हम सब मिलकर आमजन को जागरूक करेंगे तथा सरकार के दिशा निर्देशों की पालना करते हुए अपने आप को सुरक्षित रखते हुए अन्य लोगों को भी सुरक्षित रखने में अपना अहम योगदान देंगे।

You may also like

Leave a Comment