Home उत्तर प्रदेश रायबरेली जिले की समाजवादी पार्टी के यादव व ठाकुर नेता आपस मे ही एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगा रखा है पूरा जोर प्रदेश के सपा नेता बने मूक दर्शक

रायबरेली जिले की समाजवादी पार्टी के यादव व ठाकुर नेता आपस मे ही एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगा रखा है पूरा जोर प्रदेश के सपा नेता बने मूक दर्शक

by Shrinews24
0 comment

रायबरेली जिले की समाजवादी पार्टी के यादव व ठाकुर नेता आपस मे ही एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगा रखा है पूरा जोर प्रदेश के सपा नेता बने मूक दर्शक

श्री न्यूज़ 24 अदिति न्यूज़ साप्ताहिक अखबार रायबरेली शिवगढ़ बछरावां महराजगंज
लखनऊ

प्रवीन सैनी लखनऊ रायबरेली

लखनऊ समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में पार्टी कार्यकर्ताओं का बड़ा सम्मान किया जाता रहा है शायद इससे ज्यादा सम्मान उत्तर प्रदेश की किसी पार्टी के कार्यकर्ताओं को नहीं मिलता रहा होगा परंतु आजकल रायबरेली समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अपने कलुषित आचरण से समाजवादी पार्टी की मर्यादा को तार-तार कर रहे हैं , जानकारों का कहना है कि इनके ऊपर बैठे हुए प्रमुख यानी इनके आकाओं के द्वारा यह सपा कार्यकर्ता संचालित किए जा रहे हैं यह भी देखने को मिला है कि ऐसे लोग सोशल मीडिया पर ऐसे कमेंट लिख अपने ही नेताओं पर पार्टी की छवि व सामाजिक समरसता को तार-तार करने का प्रयास कर रहे हैं इसमें उनके कुछ क्षुद्र स्वार्थ भी निहित होते हैं और वह इससे अंजान बने रहते हैं कि वह समाजवादी पार्टी का कितना नुकसान कर रहे हैं बताते चलें रायबरेली की एक चर्चित घटना सोमू ढाबा पर हुई थी ठाकुर और यादवों के बीच, जिस पर पुलिस ने शख्ती के साथ कार्रवाई की थी अभी हाल में ही उसी केस में बंद आरपी यादव पूर्व जिला अध्यक्ष रायबरेली प्रत्याशी सदर जमानत पर जेल से रिहा हुए आरपी सिंह यादव को केस में गलत फंसने के दौरान समाजवादी पार्टी के कुछ संगठन के पदाधिकारी एन केन प्रकारेण संगठन में पद तो हथिया लिया मगर उसकी गरिमा के अनुकूल आचरण नहीं कर पा रहे हैं उन्हें यह डर सता रहा है कि कहीं आरपी सिंह यादव जो प्रबल दावेदार रायबरेली जिला अध्यक्ष के थे कहीं जोरदार वापसी पार्टी में न कर जाएं इसी वजह से आज कल रायबरेली व प्रदेश में एक वीडियो को भी वायरल किया जा रहा है जिससे दो जातियों के बीच टकराव बढ़ाने के लिए उकसाने का काम कर रहा है समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता ने बताया कि अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियां समय रहते अगर सपा नहीं जागी तो इसके दुष्परिणाम होंगे उन्होंने रायबरेली समाजवादी संगठन के आचरण की सुचिता पर भी सवाल उठाए उन्होंने कहा प्रदेश के शीर्ष पर बैठे हुए संगठन के पदाधिकारियों को यह गंभीरता से लेना चाहिए और जो रायबरेली सपा संगठन में बैठे अपने निजी स्वार्थ हेतु पार्टी विरोधी गतिविधियों को अपना अधिकार समझ कर रहे हैं उन्हें तत्काल बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए अगर समाजवादी पार्टी ने समय रहते ध्यान न दिया तो इसकी कीमत आगे आने वाले चुनाव में चुकानी पड़ सकती है

You may also like

Leave a Comment