Home उत्तर प्रदेश यमुना दर्शन यात्रा पर निकले के.एन. गोविन्दाचार्य यमुना नदी के किलेघाट पर यमुना आरती में हुए शामिल

यमुना दर्शन यात्रा पर निकले के.एन. गोविन्दाचार्य यमुना नदी के किलेघाट पर यमुना आरती में हुए शामिल

by Shrinews24
0 comment

यमुना दर्शन यात्रा पर निकले के.एन. गोविन्दाचार्य यमुना नदी के किलेघाट पर यमुना आरती में हुए शामिल

के.एन.गोविन्दाचार्य ने नदियों व घाटों की दुर्दशा पर चिन्ता व्यक्त की तथा पत्रकारों से अनेक विन्दुओं पर की चर्चा

राहुल कुमार गुप्ता
ब्रजेन्द्र गुप्ता
कालपी जालौन

कालपी यमुना दर्शन यात्रा के लिये निकले संघ व भाजपा के बड़े नेताओं में पूर्व में गिने जाने बाले के0 एन0 गोविन्दाचार्य ने व्यास नगरी कालपी के किलाघाट स्थिति बिहारी जी घाट में मां वनखण्डी देवी शक्तिपीठ के महन्त जमुनादास जी महाराज की मौजूदगी में यमुना आरती की तथा पत्रकारों से अनेक विन्दुओं पर चर्चा की । के0 एन0 गोविन्दाचार्य 17 सह यात्रियों के साथ गुरुवार को सायमकाल बुन्देलखण्ड के प्रवेश द्वार से प्रवेश द्वार से गुजरते हुए व्यास नगरी कालपी के यमुना तट स्थित बिहारी जी घाट पहुचें जहां वेदमंत्रोंके के साथ गुडडन महाराज ने यमुना पूजन के बाद महन्त जमुनादास जी महाराज की मौजूदगी में यमुना आरती सम्पन्न करायी।इसके बाद गोविन्दाचार्य ने बिहारी जी के दर्शन किये तथा बाद में पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में पत्रकारों से मुखातिब होते हुये कहाकि 18 दिन की यमुना दर्शन यात्रा 28 अगस्त को बनारस से शुरू हुई थी तथा प्रयागराज, बरसाना,मथुरा व वृंदावन दर्शन के बाद पूरी होगी। उन्होंने नदियों के जीर्ण-शीर्ण घाटों की दशा पर चिन्ता व्यक्त की। उन्होंने कहाकि 500 वर्ष पूर्व एक आदमी पर आठ गाय हुआ करती थी जब अग्रेंज देश छोड़कर गये तो एक व्यक्ति पर एक गाय बची थी। लेकिन मौजूदा स्थिति एक गांव पर आठ आदमी पल रहे है। यमुना पर कब्जा, पोखर व तालाब पर कब्जा विनाश की ओर संकेत है। इस दौरान उन्होंने अपनी एक पुस्तक नगर पालिका परिषद कालपी के लेखाकार हरभूषण सिंह चौहान को भेट की।इस दौरान प्रमुख रूप से राघवेंद्र सिंह,,धर्मेन्द्र चौहान,सन्दीप गुप्ता,शिव कुमार कनौडिया,उमेश परमार,पारस पुरवार,उमाशंकर पुरवार,डी0पी0पुरवार सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

You may also like

Leave a Comment