Home उत्तर प्रदेश जिला अस्पताल में करोड़ों का गबन, लिपिक पर मुकदमा दर्ज

जिला अस्पताल में करोड़ों का गबन, लिपिक पर मुकदमा दर्ज

by Shrinews24
0 comment

जिला अस्पताल में करोड़ों का गबन, लिपिक पर मुकदमा दर्ज

राहुल कुमार गुप्ता
अनुराग मैसी
औरैया

औरैया जिले के सौ शैय्या अस्पताल में तैनात तत्कालीन सीएमएस व लिपिक ने सांठगांठ कर अपने करीबियों की फर्म के फर्जी बिलों में हेराफेरी कर करीब 2 करोड़ रुपए का गबन कर लिया. करीब दो करोड़ रुपये के हेरफेर पर सीएमओ की तहरीर पर सदर कोतवाली में लिपिक के खिलाफ धोखाधड़ी व गबन का मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके साथ ही आरोपित तत्कालीन सीएमएस डॉ. राजीव रस्तोगी के खिलाफ मुकदमा लिखाने के लिए शासन से अनुमति मांगी गई है.
ऐसे हुआ घपला
आपको बता दें कि चिचौली स्थित सौ शैय्या जिला अस्पताल में वित्तीय लापरवाही पर डीएम के द्वारा एडीएम, सीएमओ, वरिष्ठ कोषाधिकारी, कार्यक्रम प्रबंधक, जिला लेखा प्रबंधक की टीम गठित कर मामले की जांच कराई गई. जांच में पता चला कि तत्कालीन सीएमएस डॉ. राजीव रस्तोगी ने एरवाकटरा ब्लॉक में तैनात लिपिक आदेश कुमार (बीपीएम) को रोगी कल्याण समिति के बिना अनुमति के 100 शैय्या अस्पताल में संबद्ध कर दिया. जिसके बाद दोनों ने मिलकर वित्तीय वर्ष 2020-21 में मिले एक करोड़ 67 लाख 89 हजार 854 रुपए का भुगतान फर्म सन फैसिलिटी को 60 बिलों के माध्यम से कर दिया. सबसे बड़ी बात इन बिलों में महीना अंकित नहीं था और न हीं बिल प्रमाणित किए गए थे. इसके साथ ही दो वाशिंग मशीन होने के बाद भी आठ लाख 94 हजार छह सौ रुपए का भुगतान चादर धुलाई के नाम पर उन्नाव की तीन फर्म मैसर्स नमन इंटरप्राइजेज, मैसर्स शिवांगी इंटरप्राइजेज व काली इंटरप्राइजेज को किया गया.
डीएम ने गठित की थी 5 सदस्यी टीम
वित्तीय लापरवाही के चलते डीएम सुनील कुमार वर्मा ने एडीएम, सीएमओ, वरिष्ठ कोषाधिकारी, कार्यक्रम प्रबंधक, जिला लेखा प्रबंधक की 5 सदस्यी टीम के जरिए मामले की जांच कराई. जांच में ये फर्में लिपिक के संबंधियों की निकलीं. साथ ही जननी व शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के तहत लाभार्थियों को दो लाख 98 हजार 800 रुपये का भुगतान दर्शाया गया, इनकी पत्रावलियां गायब हैं. अन्य मदों में भी बिना टेंडर के कई बिल का भुगतान किया गया.
सीएमओ डॉ. अर्चना श्रीवास्तव ने लिपिक आदेश कुमार के खिलाफ दो करोड़ से अधिक का गबन करने की तहरीर सदर कोतवाली में दी. जिसपर पुलिस ने बीती रात धारा 409, 420, 467, 468, 471 के तहत मुकदमा दर्ज किया है. इसके साथ ही आरोपित तत्कालीन सीएमएस डॉ. राजीव रस्तोगी के खिलाफ मुकदमा लिखाने के लिए शासन से अनुमति मांगी गई है. इसके साथ ही सीएमओ डॉ. अर्चना श्रीवास्तव ने बताया कि जांच रिपोर्ट के आधार पर वित्तीय अनियमितता की कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है.

You may also like

Leave a Comment