Home उत्तर प्रदेश नोडल अधिकारी ने विकास भवन सभागार में ली कानून ब्यवस्था की समीक्षा बैठक

नोडल अधिकारी ने विकास भवन सभागार में ली कानून ब्यवस्था की समीक्षा बैठक

by Shrinews24
0 comment

नोडल अधिकारी ने विकास भवन सभागार में ली कानून ब्यवस्था की समीक्षा बैठक

राहुल कुमार गुप्ता
नरेन्द्र शर्मा
उरई जालौन

उरई जनपद के नोडल अधिकारी विशेष सचिव औद्योगिक विकास विभाग उत्तर प्रदेश मुथुकुमारसामी बी द्वारा अपने जनपद भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत तृतीय दिवस को विकास भवन सभागार में कानून व्यवस्था एवं विकास प्राथमिकता कार्यक्रम के 18 एजेण्डा बिन्दुओं सहित शासन द्वारा निर्धारित 06 अतिरिक्त एजेण्डा बिन्दुओं पर समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में सर्वप्रथम कानून व्यवस्था की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा कानून व्यवस्था के संबंध में अवगत कराया गया। नोडल अधिकारी द्वारा महिला उत्पीड़न एवं महिला अपराध नियंत्रण के संबंध में कहा कि इसकी रोकथाम हेतु सक्रिय कदम उठाये जाने के निर्देश दिये। उन्होने पविहन विभाग की समीक्षा की समीक्षा के दौरान उन्होने ओवर लोडिंग के वाहनों के चालान की भी जानकारी की तथा इस पर क्या-क्या कार्यवाही की गयी उसकी भी जानकारी की गयी जिस पर एआरटीओ द्वारा इस संबंध में अवगत कराया गया। उन्होने जनपद में स्थायी एवं अस्थायी गौशालाओं की संख्या तथा उसकी रख रखाव के संबंध में जानकारी की तथा उन्होने यह भी कहा कि इन गौशालाओं में पशुओं के संरक्षण तथा उसकी देखभाल के संबंध में जानकारी की जिस पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा पशुओं के संरक्षण तथा उसके रख रखाव एवं पशुओं के चारा-भूसा, पानी, दवायें आदि के संबंध में भी अवगत कराया। उन्होने आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत गोल्डन कार्ड बनाये जाने की स्थिति के बारे में जानकारी की जिस पर उन्होने गोल्डन कार्ड बनाये जाने में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। उन्होने खाद्य सुरक्षा के अन्तर्गत राशन कार्ड तथा राशन वितरण की भी जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया। उन्होने स्वच्छ भारत मिशन अभियान के अन्तर्गत साफ-सफाई तथा जहां-जहां जल भराव की समस्या हो वहां पर साफ-सफाई कराये जाने के संबंधित अधिकारी को निर्देश दिये। उन्होने कहा कि जैसे डेगूं, जनित मच्छर न उत्पन्न होने पाये। उन्होने यह भी कहा कि सफाई कर्मी द्वारा प्रत्येक दिन गांवों में जाकर साफ-सफाई करें जिससे गान्दगी न फैलने पाये। उन्होने प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं शहरी की भी समीक्षा की तथा संबंधित अधिकारी द्वारा इस संबंध में अवगत कराया गया। नोडल अधिकारी द्वारा छात्रवृत्ति एवं समस्त प्रकार के पेंशन वितरण के संबंध में भी जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया। नोडल अधिकारी द्वारा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के कार्यो के बारे में भी जानकारी की। उन्होने सड़क निर्माण के प्रगति की भी जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि निर्माण कार्य तथा अवशेष कार्य शीघ्र पूर्ण कर लिये जायेगे। उन्होने मुख्यमंत्री सामूहिक बीमा योजना, मनरेगा, पुष्टाहार वितरण आदि की भी जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अपने विभागों से संबंधित योजनाओं के बारे में जानकारी दी। नोडल अधिकारी द्वारा विधुत विभाग की समीक्षा के दौरान ट्रान्सफार्मर के अधिक खराब हो जाने की शिकायत पर जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि बरसात को देखते हुये ट्रान्सफार्मर कुछ अधिक ही खराब हो रहे हैं। उन्होने मीटर रीडिंग की शिकायत पर भी नोडल अधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुये कहा कि मीटर पहले से खराब होते है या लगाने के बाद खराब हो जाते हैं। जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियन्ता विधुत को निर्देशित किया कि ट्रान्सफार्मर खराब होने की अद्यतन स्थिति खण्डवार सूची उपलब्ध कराये। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी, समाज कल्याण अधिकारी, अधिशाषी अभियन्ता विधुत, उप निदेशक कृषि आदि द्वारा अपनी-अपनी योजनाओं से संबंधित कैम्प लगाये जायेगे जिसे आम जनमानस इसका लाभ ले सके। उन्होने यह भी कहा कि जिस विभाग द्वारा कैम्प नही लगाया गया तो उसके विरूद्व कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने सिंचाई, कृषि आदि की भी समीक्षा की समीक्षा के दौरान उन्होने नहरों की शिल्ड सफाई को शीघ्र पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये। कृषि विभाग द्वारा खाद, बीज आदि की उपलब्धता की भी जानकारी की। उन्होने फसल बीमा योजना का लाभ पात्र लाभार्थियों को ही इसका लाभ मिलना चाहिये। नोडल अधिकारी अधिकारी द्वारा 50 लाख से अधिक लागत की परियोजनाओं की भी समीक्षा की। समीक्षा के दौरान संबंधित कार्यदायी संस्था को शीघ्र कार्य पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये। अन्त में नोडल अधिकारी द्वारा स्वास्थ्य विभाग, पंचायती राज विभाग एवं सभी नगर पालिका/नगर पंचायतों के अधिकारियों को लगातार फागिंग एवं सैनिटाइजेशन कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने यह भी कहा कि जहां कही भी जल भराव है उसे तत्काल निकालने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये तथा एंटीलार्वा दवाओं का छिड़काव सुनिश्चित करें। बैठक में जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन, पुलिस अधीक्षक रवि कुमार, मुख्य विकास अधिकारी डा. अभय कुमार श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. एनडी शर्मा सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

You may also like

Leave a Comment