Home उत्तर प्रदेश व्यापक स्तर पर किया गया मनरेगा में घोटाला खंड विकास अधिकारी भी सम्मिलित

व्यापक स्तर पर किया गया मनरेगा में घोटाला खंड विकास अधिकारी भी सम्मिलित

by Shrinews24
0 comment

व्यापक स्तर पर किया गया मनरेगा में घोटाला खंड विकास अधिकारी भी सम्मिलित

विनय शुक्ला
श्री न्यूज 24

सीतापुर जनपद में मनरेगा में हुए घोटाले को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रवीण सिंह ने जिलाधिकारी सीतापुर से निष्पक्ष जांच कराए जाने को लेकर ज्ञापन दिया है उन्होंने बताया कि मनरेगा योजना अन्तर्गत मनरेगा कन्टीजेन्सी से जनपद के विभिन्न विकास खण्ड ने वाल पेन्टिग कार्य कराया जिसमें विकास खण्ड बेहटा, सकरन, महोली, पिसावा, परसेन्डी, लहरपुर, ऐलिया ,महमूदाबाद ,रामपुर मथुरा, हरगांव में मनरेगा योजना कन्टीजेन्सी से लगभग 60 लाख रूपयों की वाल पेन्टिग कार्य कराया गया है जिस सम्बन्ध में आयुक्त ग्राम्य विकास ने अपने पत्र संख्या553/1174/2019/2020 दिनांक29/6/2020 में माध्यम से निर्देश दिया गया था की महिला समूहों द्वारा कार्य कराया जायेगा पत्र में यह भी कहा गया था कि कितनी धनराशि खर्च करना है लेकिन आयूक्त ग्राम विकास विभाग की धज्जियां उड़ाते हुऐ आदेश को दर किनार करते हुऐ भुगतान किया गया है और वह भी ग़ैर जनपद की फर्म को भुगतान कर दिया गया है कार्य से अधिक दिया गया जो फर्म विजय कुमार एण्ड कम्पनी बहराईच को दिया गया है
जिस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी को एक शिकायती पत्र के माध्यम से दिनांक 2/6/2021 को आपको मिलकर दिया गया था लेकिन अभी तक कोई भी न जांच कराई गई न ही कोई भी कार्यवाही की गई
जिससे यह सिद्ध होता हैं की शिकायत की जांच न होकर दबाने का प्रयास किया जा रहा है
मनरेगा योजना कन्टीजेन्सी से कराया गया वाल पेन्टिग कार्य विभिन्न विकास खण्डों द्वारा कराया गया है जिसमें मनरेगा श्रमिकों को कार्य न देकर न ही जनपद सीतापुर की फर्म को कार्य न देकर गैर जनपद की फर्म द्वारा कार्य कराया गया है जिसमें भुगतान प्रति ग्राम पंचायत 420 स्क्यार फिट किया गया है और मौके पर केवल एक सौ पचास या दो सौ सक्वायरर फिट ही कार्य हुआ है काम कम और भुगतान अधिक किया गया है अगर अस्थलीय जांच कराई जाये तो मनरेगा योजना कन्टीजेन्सी में जिस तरह घोटाला किया गया है अगर निष्पक्ष जांच हो तो जनपद पर बैठें अधिकारी भी इस घोटाले में सम्लित होते नजर आएंगे जो पैसा श्रामिको के लिये आता है वह विकास खण्ड पर बैठे अधिकारियों और जनपद सीतापुर के विभागाध्यक्ष की मिली भगत से गैर जनपद की फर्म को कार्य दिया गया है जो जनपद बहराईच की फर्म है विजय कुमार एण्ड कम्पनी बहराईच को टेन्डर भी नहीं किया जाता है और उसे पता चलता है बल्कि उसे दस विकास खण्ड का कार्य दें दिया जाता है और कार्य से अधिक भुगतान भी कर दिया जाता है और जनपद का एक भी मनरेगा श्रामिक को कार्य नहीं मिलता और लगभग साठं लाख का भुगतान भी हो जाता है जनपद सीतापुर में वाल पेन्टिग कार्य की जांच गोपनीय जांच एजेंसी से जांच कराई जाये तभी निष्पक्ष जांच हो सकती है और दोषी अधिकारी और कर्मचारी से धनराशि की वसूली की जाये

You may also like

Leave a Comment