Home उत्तर प्रदेश जिलाधिकारी ने रामपुरा पहुंच बाढ़ पीड़ितों को बांटी राशन सामग्री

जिलाधिकारी ने रामपुरा पहुंच बाढ़ पीड़ितों को बांटी राशन सामग्री

by Shrinews24
0 comment

जिलाधिकारी ने रामपुरा पहुंच बाढ़ पीड़ितों को बांटी राशन सामग्री

राहुल कुमार गुप्ता
संतोष कुमार
रामपुरा जालौन

रामपुरा पिछले माह विकास खण्ड के अंतर्गत गई बाढ़ ने नदियापार के कई गांवों को अपनी चपेट में ले लिया था। जिसके कारण ग्रामीणों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया था।
बाढ़ पीड़ितों को निरंतर परामर्श समाजसेवी संस्था द्वारा एक माह का राशन सामग्री का वितरण नगर के जगम्मनपुर रोड़ पर स्थित पंडित रामदत्त द्विवेदी महाविद्यालय में किया जा रहा हैं। गुरुवार को जिले की मुखिया जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने कार्यक्रम में पहुँचकर बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों को एक माह की राशन सामग्री वितरित की। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को जानकारी देते हुए बताया कि किसानों द्वारा फसल बीमा की 16 हजार रुपए की किस्त जमा की हैं। उनके लिए शासन द्वारा 5 करोड़ रुपया भेजा गया है। जिसमे 1 करोड़ रुपए सितंबर माह में किसानों के खातों में डाल दिये जायेंगे। कार्यक्रम में आये बाढ़ पीड़ित क्षेत्र के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से संवाद करते हुए कहा कि उनको ऊँचे स्थानों पर बसाया जाये। जिसके लिये जिलाधिकारी ने एसडीएम सालिकराम से कहा कि जिन गाँवो के घरों में बाढ़ का पानी भर गया था ऐसे गाँवों को बसाने के लिए जगह का सर्वे जल्द करा लिया जाये। जिसके बाद वहां पर प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत ग्रामीणों के लिए कॉलोनी बनाकर बसाया जाये। जिलाधिकारी द्वारा ग्रामीणों को सेनेटाइजर व मास्क वितरित किये गये।

व्यापार मंडल के पदाधिकारियों को डीएम ने किया सम्मानित
रामपुरा। क्षेत्र में आई बाढ़ में जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन तथा एसडीएम सालिकराम के सराहनीय कार्य को देखते हुए रामपुरा व्यापार मंडल के अध्यक्ष अमित पुरवार प्रशांत कठिल कोषाध्यक्ष, कृष्णकांत द्विवेदी उपाध्यक्ष ने स्मृति चिन्ह भेंट कर दोनों अधिकारियों को सम्मानित किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन, चेयरमैन शैलेन्द्र सिंह, विकास खण्ड अधिकारी संदीप कुमार, परामर्श समाजसेवी संस्था के निवेशक अनिल सिंह, सचिव संजय सिंह, व्यापार मंडल अध्यक्ष अमित पुरवार, सुखवीर, प्रशांत, आदर्श, दीपू, रामसुंदर यादव, रितेश द्विवेदी आदि सहित ग्रामीण मौजूद रहें।

You may also like

Leave a Comment