Home उत्तर प्रदेश अब BSP की राह पर BJP, 5 सितंबर से प्रबुद्धजन सम्मेलन

अब BSP की राह पर BJP, 5 सितंबर से प्रबुद्धजन सम्मेलन

by Shrinews24
0 comment

अब BSP की राह पर BJP, 5 सितंबर से प्रबुद्धजन सम्मेलन

राहुल कुमार गुप्ता
संतोष कुमार
लखनऊ

लखनऊ यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) नजदीक आते ही दूसरे दलों की तरफ बीजेपी ने भी ब्राह्मणों को रिझाने की कवायद शरू कर दी है. यही वजह है कि पार्टी जल्द ही प्रबुद्ध जन सम्मेलन (Prabuddh Jan Sammelan) शुरू करने जा रही है. बीजेपी 5 सितंबर से यूपी की हर विधानसभा सीट पर प्रबुद्ध जन सम्मेलन शुरू करेगी. इसके लिए प्रदेश बीजेपी इकाई की तरफ से जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं. केंद्रीय नेतृत्व से पिछले हफ्ते ही इसे हरी झंडी मिल गई थी. अब राज्य स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं.
शिक्षक दिवस के मौके पर 5 सितंबर से शुरू होकर 22 सितंबर तक प्रबुद्ध जन सम्मेलन जारी रहेगा. कहा ये भी जा रहा है कि जातिगत आधार पर बीजेपी (BJP) इस सम्मेलन को आयोजित नहीं कर रही है. लेकिन पार्टी सूत्रों के मुताबिक इस सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य ब्राह्मण समाज (Brahaman Vote) को अपने पाले में करना है. उसी को देखते हुए सम्मेलन में आमंत्रित किए जाने वाले लोगों की लिस्ट और रूपरेखा तैयार की गई है.
ब्राह्मणों को रिझाने का बीजेपी का प्लान
खबर के मुताबिक प्रबुद्ध जन सम्मेलन के जरिए बीजेपी के नेता टीचर्स, प्रोफेसर, इंजीनियर, डॉक्टर, साहित्यकार जैसे समाज के प्रबुद्ध लोगों से संवाद करेंगे. बता दें कि विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही सभी पार्टियों ने समाज के हर वर्ग को लुभाने की कवायद शुरू कर दी है. बीएसपी पहले से ही साल 207 की जीत को दोहराने के लिए इस चुनाव भी ब्राह्मणों पर दांव लगा रही है. कांग्रेस भी इस ममाले में पीछे नहीं है. बीजेपी भी अब इस मामले में पीछे नहीं रहना चाहती है. यही वजह है कि नाराज ब्राह्मणों को फिर से रिझाने की रणनीति बीजेपी ने बनाई है.
बीजेपी का प्रबुद्ध जन सम्मेलन
यूपी में अपनी खोई हुई जमीन वापस वपाने के लिए मायावती अब एक बार फिर से ब्राह्मण खार्ड खेल रही हैं. सतीश मिश्रा ने योगी सरकार पर ब्राह्मणों पर हमले का आरोप लगाया था. उन्होंने यहां तक कहा था कि कानपुर के बिकरू कांड में कई बेगुनाहों को फंसाया गया है. बता दें कि 2007 में भी ब्राह्मण वोट पर बीएसपी को बंपर जीत हासिल हुई थी. उसी जीत को मायावती दोबारा दोहराने की कोशिश में जुटी हुई हैं. वहीं अब बीजेपी ने भी उसी राह पर चलने की योजना बनाई है.

You may also like

Leave a Comment