Home उत्तर प्रदेश लखनऊ मेरठभारतीय किसान यूनियन तोमर बारह जुलाई को करेगा डीसीओ मेरठ का घेराव

लखनऊ मेरठभारतीय किसान यूनियन तोमर बारह जुलाई को करेगा डीसीओ मेरठ का घेराव

by Shrinews24
0 comment

लखनऊ मेरठभारतीय किसान यूनियन तोमर बारह जुलाई को करेगा डीसीओ मेरठ का घेराव

श्री न्यूज 24 आदिति न्यूज़ एवं यूट्यूब चैनल लखनऊ रायबरेली

प्रवीन सैनी लखनऊ

जनपद मेरठ छह जुलाई को भारतीय किसान यूनियन तोमर की एक मीटिंग जिला अध्यक्ष चौधरी ओमवीर सिंह जी के आवास पर जटपुरा गांव में हुई जिसमें किनौनी शुगर मिल द्वारा किसानों के गन्ने का भुगतान न होने पर चर्चा की गई इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारी वह अन्य किसान भाइयों ने अपने अपने विचार रखे शुगर मिल किनौनी द्वारा गन्ना भुगतान न होने पर किसानों भाइयों की जो समस्या है उन्हें सुनकर किसानों में भारी रोस दिखाई दिया तथा सभी के विचार सुनने पर सवँसम्मति से निर्णय लिया गया की दिनांक बारह जुलाई दिन सोमवार को समय ग्यारह बजे सभी भारतीय किसान यूनियन तोमर के कार्यकर्ता वह पदाधिकारी वह क्षेत्र के सभी किसान भाई डीसीओ ऑफिस पहुंचकर भुगतान के लिए डीसीओ का घेराव करेंगे वह ज्ञापन देंगे इस मौके पर मंडल अध्यक्ष मेरठ चौधरी पदम सिंह जिला अध्यक्ष चौधरी ओमवीर सिंह जटपुरा मंडल महासचिव नरेंद्र सिंह गुर्जर महिला जिला अध्यक्ष गीता चौधरी किसान मजदूर संगठन जिला अध्यक्ष दिनेश गुर्जर जिला प्रभारी मास्टर सनोज गुर्जर युवा जिला अध्यक्ष सनी चौधरी तहसील अध्यक्ष मवाना चौधरी अनिल चिकारा किशोरपुर जिला संगठन मंत्री चौधरी आनंदपाल युवा जिला प्रभारी इंतजार अली ब्लॉक अध्यक्ष अवनीश त्यागी ब्लॉक अध्यक्ष दौराला तौसीफ सैफी मवाना युवा ब्लॉक अध्यक्ष हस्तिनापुर इंदरजीत सिंह जयंत ब्लाक महासचिव मवाना नसीमुद्दीन युवा ब्लॉक अध्यक्ष मवाना शिव कुमार राणा नगर अध्यक्ष हस्तिनापुर ब्रजमोहन नगर उपाध्यक्ष राहुल कुमार आदि भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारी गण वह कार्यकर्ता के साथ साथ किसान भी मौजूद रहे वही मुजफ्फरनगर मेरठ समेत अन्य जगहों पर भी किसान बहुत है परेशान भारतीय जनता पार्टी की सरकार से बहुत अधिक अपेक्षा थी किसानों को अभी भी है मेरठ क्षेत्र के विधायक जो खुद भी किसान हैं एक अहम मंत्री पद पर विराजमान होने के बाद भी नहीं हो पा रही है दूर किसानों की समस्या फिर चाहे वह गन्ना के भुगतान की हो या अन्य समस्या सबसे अधिक समस्या क्षेत्र के किसानों को अत्यधिक बिजली का बिल आने और गन्ना के भुगतान ना होने कारण हो रही है

You may also like

Leave a Comment