Home उत्तर प्रदेश व्यवस्थाओं के नाम पर छलावा साबित हो रही विकास प्राधिकरण की योजनाएं

व्यवस्थाओं के नाम पर छलावा साबित हो रही विकास प्राधिकरण की योजनाएं

by Shrinews24
0 comment

व्यवस्थाओं के नाम पर छलावा साबित हो रही विकास प्राधिकरण की योजनाएं

नगर के आधा दर्जन से अधिक वाटर कूलर दुर्दशा का शिकार
गर्मियों के दिनों में भी संचालित नहीं कराई जा सके

राहुल कुमार गुप्ता
दीपक यादव
उरई जालौन

उरई जीते लगभग डेढ़ दशक से यहां नगर के विकास कार्यों को लेकर अस्तित्व में आए विकास प्राधिकरण की कार योजनाएं इन दिनों मजाक साबित हो रही हैं नगर के कई सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित कराए गए वाटर कूलर इसकी जीती जागती मिसाल है जो गर्मियों के दिनों में भी संचालित नहीं कराई जा सके।
गौरतलब हो कि बीते कुछ वर्षों के दौरान उरई विकास प्राधिकरण ने नगर के आधा दर्जन स्थानों पर आम लोगों को गर्मियों के दिनों में शीतल पानी उपलब्ध कराने की मंशा से वाटर कूलर स्थापित कराए थे लेकिन चौंकाने वाली बात यह रही कि उक्त सभी वाटर कूलर 1-2 वर्ष ही बमुश्किल संचालित रह सके बाद में दिनोंदिन एक-एक करके अधिकांश वाटर कूलर खराब पड़ गए मौजूदा स्थिति यह है कि नगर में स्थापित आधा दर्जन से अधिक वाटर कूलर शोपीस बने हुए हैं ऐसे में जबकि इन दोनों भीषण गर्मी पड़ रही है और सार्वजनिक स्थानों पर लोग पीने के पानी की तलाश में इधर से उधर भटकने को मजबूर हैं और उन्हें अपनी प्यास बुझाने के लिए दुकानों से बोतलबंद पानी ऊंची कीमतें देकर प्यास बुझानी पड़ रही है तो ऐसे में उक्त सभी वाटर कूलर लोगों को मुंह चिढ़ा रहे हैं नगर के कोच बस स्टैंड जिला परिषद राजमार्ग स्थित गांधी मार्केट के ठीक सामने जिला न्यायालय सहित कई स्थानों पर वाटर कूलर दूध से ग्रस्त अवस्था में पड़े हुए हैं।

You may also like

Leave a Comment