Home उत्तर प्रदेश नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम आयोजित

नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम आयोजित

by Shrinews24
0 comment

नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम आयोजित


श्री न्यूज 24/दैनिक अदिति न्यूज
सूर्यांश श्रीवास्तव
जिला थाना प्रभारी
प्रयागराज

नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम, प्रयागराज द्वारा ठाकुर हर नारायण सिंह पीजी कॉलेज, करेलाबाग में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया| कार्यशाला के मुख्य अतिथि रहे डॉ वी.के. मिश्रा अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं नोडल अधिकारी एनसीडी सेल एवं डॉ सुषमा श्रीवास्तव, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, मोतीलाल नेहरू मंडलीय चिकित्सालय, प्रयागराज|
कार्यशाला के आयोजन में डॉ उदय प्रताप सिंह, निदेशक एवं डॉ अजय गोविंद राव , प्राचार्य, ठाकुर हर नारायण सिंह पीजी कॉलेज की अति महत्वपूर्ण भूमिका रही |
कार्यशाला का उद्देश्य युवा पीढ़ी को नशे के दुष्परिणाम के बारे में जागरूक करना और खुद भी नशा छोड़ना एवं अपने आसपास के लोगों को नशा ना करने के लिए एवं जो नशा करते हैं उनको छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करना करना था| इसी उद्देश्य के साथ ही डॉ वी.के.मिश्रा द्वारा कॉलेज के उपस्थित छात्रों को बताया कि कैसे जिंदगी की छोटी-छोटी परेशानियों का सामना कर अपने आप को मजबूत कर सकते हैं और कोरोना काल में नशा से दूरी बनाते हुए अपने शरीर को और मजबूत रखने के लिए महत्वपूर्ण उपायों को अपना सकते हैं|
इसी क्रम में डॉ सुषमा श्रीवास्तव द्वारा बताया गया कि काल्विन अस्पताल में नशे से संबंधी चाहे तंबाकू, गांजा, शराब आदि के संपूर्ण इलाज की व्यवस्था निशुल्क उपलब्ध हैl तथा किस तरीके से व्यक्ति अस्पताल आकर के लाभ उठा सकते हैं, जोकि उनके लिए भविष्य में उपयोगी होगा|
कार्यशाला की मुख्य वक्ता नैदानिक मनोवैज्ञानिक डॉ ईशान्या राज ने बताया कि नशा एक ऐसा मादक पदार्थ होता है, जो व्यक्ति के सोच को, मनोभाव को, मानसिक प्रक्रिया को कैसे छीन कर देता है और व्यक्ति के शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, कार्यस्थल पर परेशानियां लेकर के आता है |
डॉ राकेश कुमार पासवान ने नशे के प्रकार एवं उससे होने वाले मानसिक बीमारियों के बारे में तथा मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत उपलब्ध इलाज के बारे में चर्चा कर उसकी इलाज के बारे में व्याख्या की|
डॉ सुमन लता त्रिपाठी सामाजिक कार्यकर्ता तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ ने छात्रों को व्यक्तिगत एवं सामाजिक स्तर पर नशा छोड़ने के उपायों को बताया|
अंत में सामूहिक रूप से कॉलेज के निदेशक प्रिंसिपल शिक्षक छात्र स्टाफ मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम मुख्य अतिथियों के साथ नशा छोड़ने हेतु शपथ ग्रहण किया गया|

You may also like

Leave a Comment