Home उत्तर प्रदेश आस्था के आगे भारी बारिश के फुहारे परे कमजोर

आस्था के आगे भारी बारिश के फुहारे परे कमजोर

by Shrinews24
0 comment

आस्था के आगे भारी बारिश के फुहारे परे कमजोर

श्री न्यूज़ 24/आदित्य न्यूज़
चंद्र प्रकाश पाण्डेय
सीतापुर

कमलापुर सीतापुर गुरुवार को सुहागिनों ने वट सावित्री पूजन किया इस अवसर पर भोर से ही वट वृक्षों के निकट सुहागिनों की भीड़ दिखाई दी। शहरी क्षेत्रों में अधिकांश महिलाओं ने घरों में बरगद की डाल का पूजन किया। वहीं, कुछ के घर के पास ही वट होने पर परिक्रमा की। इस दौरान महिलाओं के मन से कोरोना का डर फूर दिखाई दिया। पति की दीर्घायु और परिवार की सुख शांति की कामना की। महिलाओं के लिए ये व्रत बेहद ही फलदायी माना जाता है। इस दिन सुहागन महिलाएं पूरा श्रृंगार कर बरगद के पेड़ की पूजा करती हैं। वट वृक्ष की जड़ में भगवान ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु व डालियों, पत्तियों में भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार इस दिन सावित्री ने पति सत्यवान के जीवन को वापस पाया था। इसके लिए उन्होंने वट वृक्ष के नीचे बैठकर व्रत रखकर पूजन किया था। वृक्ष के नीचे पति को गोद में लेकर बैठी सावित्री ने जब देखा कि यमराज पति के जीवन को लेकर दक्षिण दिशा की ओर जा रहे हैं तो सावित्री ने यमराज का पीछा किया। पति के जीवन को वापस लाने में कामयाब रहीं। उस दिन अमावस्या थी। इस दिन व्रत रखने से सुहागिनों की हर मनोकामना पूरी होती हैं।

You may also like

Leave a Comment