Home उत्तर प्रदेश जंगल की कीमती जमीन अवैध कब्जों को खाली करने के लिये कवायद तेज

जंगल की कीमती जमीन अवैध कब्जों को खाली करने के लिये कवायद तेज

by Shrinews24
0 comment

जंगल की कीमती जमीन अवैध कब्जों को खाली करने के लिये कवायद तेज

राहुल कुमार गुप्ता
ब्रजेन्द्र गुप्ता
कालपी जालौन

कालपी कालपी तथा आसपास स्थित वन आरक्षित भूमि में अवैध कब्जों से खाली कराने के लिये विभागीय टीम ने मौके पर पहुंचकर अवैध कब्जा धारकों के खिलाफ कार्यवाही तेज कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यमुना नदी कालपी के तटीय क्षेत्र में वन विभाग की कीमती भूमि स्थित है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक मौजा कालपी खास में वन आरक्षित क्षेत्र में अभिलेखों में दर्ज है। विभागीय कानून एवं माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक बन आरक्षित क्षेत्र में गैर वानिकी कार्य भी अनुमति नहीं दी सकती है। लेकिन कालपी खास की बन आरक्षित भूमि में सरकारी स्कूल समेत कई दर्जनो लोगों ने अपने अपने पक्के घर भी बनवा करा कर विभाग को ठेंगा दिखाने का काम किया है।
वन क्षेत्राधिकारी राकेश सचान ने बताया कि कालपी खास की बन आरक्षित भूमि से अवैध कब्जे हटाने के लिए आधा सैकड़ा अवैध कब्जा धारकों को नोटिस भी दे दिया जा चुका है तथा कोर्ट में मुकदमा भी दायर किए गए हैं। इधर पक्के मकान बनाकर रह रहे लोगों की दलील है कि हम लोग 25-30 वर्षों से निरंतर घरों में निवास कर रहे हैं। सरकार ने हैंडपंप बनवाये, पक्की सड़क बनवाई,बिजली के खंभे, लाइनें बिछाई जा चुकी हैं। रेंजर के निर्देश पर वन दरोगा राम विशाल यादव ,वनरक्षक प्रीति सरोज, बलवान सिंह की टीम के द्वारा कालपी खास की वन आरक्षित भूमि का निरीक्षण किया गया तथा अवैध कब्जा धारकों को जरूरी हिदायतें दी गई। उन्होंने भी बताया कि वन आरक्षित क्षेत्र में नाजायज ढंग से बनाए गए परिषदीय विद्यालय को भी विभाग के द्वारा सीज किया जा चुका है।

You may also like

Leave a Comment