Home उत्तर प्रदेश सुलतानपुर-दोस्तपुर में अवैध तरीके से दुकान पर कब्जा करने का प्रयास सूचना पर पहुंची पुलिस दहशतगर्दो को खदेड़ा

सुलतानपुर-दोस्तपुर में अवैध तरीके से दुकान पर कब्जा करने का प्रयास सूचना पर पहुंची पुलिस दहशतगर्दो को खदेड़ा

by Shrinews24
0 comment

सुलतानपुर-दोस्तपुर में अवैध तरीके से दुकान पर कब्जा करने का प्रयास सूचना पर पहुंची पुलिस दहशतगर्दो को खदेड़ा

श्री न्यूज़ 24/आदिति न्यूज़
रामसुभावन चीफ ब्यूरो सुल्तानपुर

सुल्तानपुर जनपद के दोस्तपुर थाना क्षेत्र के दोस्तपुर कस्बा के शाही पुल का शाही पुल स्थित अंबेडकर नगर दोस्तपुर राजमार्ग पर श्रीराम मोदनवाल ने किराए के मकान में मिष्ठान भंडार किराए की दुकान में खोल रखा है जिस पर मालिकाना हक का मुकदमा अदालत में विचाराधीन है इसी दुकान के बगल गाटा संख्या गाटा संख्या 119 का भूमि मालिक सागरमल पुत्र हरिवंश से मालिकाना हक का मुकदमा अदालत में चल रहा है जिसमें सागरमल कसौधन द्वारा श्रीराम अग्रहरि को बेदखली करने का मुकदमा विचाराधीन है और अदालत द्वारा अभी तक श्रीराम मोदनवाल को दुकान से बेदखल नहीं किया गया है इसी मिठाई की दुकान पर कब्जा करने का किया गया प्रयास क्योंकि श्रीराम मोदनवाल द्वारा बताया गया कि गाटा संख्या 116 का बैनामा का बैनामा दिलशाद पुत्र मोहम्मद खालिद ग्राम दियरा रसूलपुर थाना बेवाना जिला अंबेडकरनगर द्वारा लिया गया है लेकिन फर्जी ढंग से गाटा संख्या 119 को जिसमें श्री राम मोदनवाल की दुकान स्थित है उसे जबरदस्ती खाली कराने का प्रयास किया जा रहा है यही नहीं वर्ष 1997 में नगर पंचायत द्वारा श्रीराम मोदनवाल को नोटिस जारी कर गाटा संख्या 119 में स्थित दुकान पर कब्जा करने का दोषी भी मान लिया था लेकिन मालिकाना हक का मुकदमा अदालत में विचाराधीन की वजह से स्वामित्व का फैसला नहीं हो सका घटनास्थल पर तैनात पुलिस फोर्स आज शाम श्रीराम मोदनवाल की दुकान पर कब्जा करने पहुंचे मोहम्मद खालिद ने अपने साथियों समेत दुकान में रखे सामान को सड़कों पर फेंकना शुरू कर दिया तो इसकी सूचना दोस्तपुर पुलिस को मिलते ही इंस्पेक्टर प्रद्युम्न सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और लगी हुई भीड़ को खदेड़ा इसके बाद श्रीराम मोदनवाल की दुकान का सामान दुकानों में रखवाया देर रात तक भारी पुलिस फोर्स वहां गश्त करती रही जबकि अवैध कब्जा करने वाले दहशतगर्द पुलिस को देख फरार हो गए पीड़ित उर्मिला पत्नी श्री राम मोदनवाल ने थानाध्यक्ष को लिखित शिकायत ही पत्र देकर दुकान खाली नहीं कराने की गुहार की है वही पलिस घटनास्थल पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं थानाध्यक्ष प्रदुम्न सिंह की मुस्तैदी से बड़ी घटना होने से बच गई जिसकी कस्बे के लोगों ने काफी सराहना की है

You may also like

Leave a Comment