Home उत्तर प्रदेश गैस सिलेंडर फटने से घर में लगी आग,दो बच्चों सहित चार लोग आग में झुलसे

गैस सिलेंडर फटने से घर में लगी आग,दो बच्चों सहित चार लोग आग में झुलसे

by Shrinews24
0 comment

गैस सिलेंडर फटने से घर में लगी आग,दो बच्चों सहित चार लोग आग में झुलसे

राहुल कुमार गुप्ता
नरेन्द्र शर्मा
कालपी जालौन

कालपी कालपी के मोहल्ला भट्टी पुरा में उस समय अफरा तफरी मच गई जब घर की बुजुर्ग महिला ने भगवान की आरती के लिए माचिस जलाई वैसे ही किचन में रखें गैस सिलेंडर में तेजी से आग लग गई आग इतनी भयानक थी की देखते ही देखते आप की लपटों से पूरा घर चपेट में आ गया। घर के भीतर परिवार के सभी सदस्य आग की चपेट में आ गए किसी तरह से पड़ोसियों ने नसेनी लगाकर छत से सभी घरवालों को निकाला। जिससे कोई भी जनहानि नहीं हो सकी । इस घटना से घर में एवं दुकान में रखा लाखों रुपए का सामान जलकर राख हो गया मोहल्ले वालों ने आग में झुलसे लोगों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।
कालपी के मोहल्ला भट्टी पुरा निवासी मनोज दीक्षित पुत्र स्व,राजेन्द्र दीक्षित निवासी की घर में ही परचूनी की दुकान है। आज सुबह जब मनोज के बच्चे पत्नी घर के ऊपर वाले कमरे में थे मनोज बाहर बैठा था।बताते हैं कि उसी समय मनोज की मां राजवती नहा धोकर पूजा करने के लिए जैसे ही भगवान की आरती जलाने के लिए माचिस जलाई वैसे ही पूरा कमरा आग के गोले में परवर्तित हो गया । राजरानी चीखते हुए बाहर की ओर भागी उतने में ही वह झुलस गईं बाहर बैठे मकान मालिक मनोज दीक्षित ने आग आग कर जोर से चिल्लाना शुरू किया जब तक घर परिवार और आस पडो़स के लोग आते आग ने विकराल रुप धारण कर लिया तभी घर के उपर से मनोज की पत्नी और बच्चों पायल एवं अंश के चीखने की आवाजें आईं तब तक मुहल्ले के काफी लोग एकत्र हो गए और पानी तथा बालू से आग बुझाने का प्रयास करने लगे। वहीं कुछ लोगों ने सीडी़ लगाकर घर के उपर वाले कमरे में फसे मनोज के बच्चों और पत्नी को बचा कर नीचे उतारा और आग बुझाने में जुट गए तभी एक भयानक बिस्फोट हुआ जो घर के अन्दर रखे घरेलू गैस सिलेंडर के फटने की आवाज थी। बिस्फोट इतना जबरजस्त था कि घर के चारों ओर की दीवारें चटक गईं।
फायर बिग्रेट को कई बार फोन लगाया काफी कोशिस के बाद फोन लगा अग्नि समन दल की गाढ़ी आते आते लगभग ४०से ४५मिनट लग गया तब तक पडो़सियों ने काफी हद तक आग को बढ़ने से रोका फायर बिग्रेट की गाढी़ ने ही पूर्णतया आग पर काबू पाया फिर भी साड़े दस बजे तक घर से धुआं निकल रहा था।
कोरोना महामारी काल में लाक डाउन के चलते वैसे भी लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। उस पर आग ने मनोज दीक्षित की घर में ही परचून की दुकान टीवी फ्रिज कूलर पंखा कपडे़ लत्ते सहित नगदी जेवर आदि सब कुछ जलकर खाक हो गया वहीं आग से झुलसे मनोज दीक्षित उनकी मां राजरानी पुत्री पायल पुत्र अंश को सरकारी स्वास्थ केन्द्र में भर्ती कराया गया जहां मनोज के हाथ पैर जले वहीं माता जी का पेट तथा बच्चों के भी हाथ जल गए जिनका उपचार किया जा रहा है।

You may also like

Leave a Comment