Home उत्तर प्रदेश कोरोना से जंग में शहीद पुलिसवालों के लिए शासनादेश जारी, आश्रितों को जल्‍द मिलेगी नौकरी

कोरोना से जंग में शहीद पुलिसवालों के लिए शासनादेश जारी, आश्रितों को जल्‍द मिलेगी नौकरी

by Shrinews24
0 comment

कोरोना से जंग में शहीद पुलिसवालों के लिए शासनादेश जारी, आश्रितों को जल्‍द मिलेगी नौकरी

श्री न्यूज 24/ साप्ताहिक अदिति न्यूज़
ध्रुव ज्योति नन्दी, वाराणसी

कोरोना से लड़ाई में शहीद उत्‍तर प्रदेश के पुलिसकर्मियों के आश्रितों को जल्‍द ही नौकरी मिल जाएगी। सीएम योगी के निर्देश पर इस सम्‍बन्‍ध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। मंगलवार को प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार को इसकी जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि कोरोना की वजह से शहीद हुए पुलिसकर्मियों के परिवार को मृतक आश्रित कोटे से जल्‍द नौकरी दी जाएगी। इस सम्‍बन्‍ध में प्रक्रिया चल रही है। उन्‍होंने कहा कि ऐसे पुलिसकर्मियों को परिवारीजनों को शासन की ओर से स्वीकृत आर्थिक सहायता भी दी जा रही है।
उन्‍होंने बताया कि कोरोना काल में 50 की उम्र पार कर चुके पुलिसकर्मियों को फ्रंटलाइन ड्यूटी से हटाया जा रहा है। इनमें वे पुलिसकर्मी शामिल हैं जिन्‍हें मधुमेह, दिल, फेफड़ों या लिवर से संबंधित बीमारियां हैं। पुलिस बल में कमी को पूरा करने के लिए 134 कंपनी पीएसी तैनात की गई है। इसके अलावा अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जो पुलिसकर्मी हाल में पॉजिटिव से कोरोना निगेटिव हुए हैं उन्‍हें सख्‍त ड्यूटी न दी जाए। 50 प्‍लस और हाल में कोरोना निगेटिव हुए पुलिसकर्मियों को कोविड हॉस्पिटल या कंटेनमेंट जोन के पास ड्यूटी पर तैनात नहीं किया जाएगा।


अब तक 162 पुलिसकर्मी शहीद:

कोरोना काल में अब तक 162 पुलिसकर्मी शहीद हो चुके हैं। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि मार्च 2020 से मई 2021 तक कुल 21455 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव हुए। इनमें से 19313 ठीक हो चुके हैं। इस समय 1979 पुलिसवाले कोरोना पॉजिटिव हैं। इसके साथ 9246 पुलिसकर्मियों को क्‍वारंटाइन किया गया है। उन्‍होंने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों की पुलिस लाइन में कोविड केयर सेंटर चलाए जा रहे हैं। पुलिस दफ्तरों में भी कोविड केयर सेंटर की स्थापना की गई है।


पुलिस ने बखूबी निभाई जिम्‍मेदारी:

एडीजी लॉ एंड आर्डर ने कहा कि कोरोना काल में यूपी पुलिस ने बखूबी अपनी जिम्‍मेदारी निभाई है। कोरोना के दौरान में कानून-व्‍यवस्‍था कायम रखने के साथ ही पंचायत चुनाव की जिम्‍मेदारी भी निभाई। इसके अलावा कंटेनमेंट जोन और कोविड अस्‍पतालों के आसपास भी ड्यूटी दी। कंटेनमेंट जोनों में 32706 पुलिसकर्मी तैनात हैं।

You may also like

Leave a Comment