Home उत्तर प्रदेश कोरोना से बचाव के लिए बहुत उपयोगी है शोसल डिस्टेसिंग और मास्क–डा ज्ञानेस्वर सिंह

कोरोना से बचाव के लिए बहुत उपयोगी है शोसल डिस्टेसिंग और मास्क–डा ज्ञानेस्वर सिंह

by Shrinews24
0 comment

कोरोना से बचाव के लिए बहुत उपयोगी है शोसल डिस्टेसिंग और मास्क–डा ज्ञानेस्वर सिंह

श्री न्यूज़ 24 दैनिक अदिति न्युज
रंजीत राज
कौशांबी

कोरोना काल मे प्रभारी चिकित्सा अधिकारी देव दूत की तरह घर घर बांट रहे है रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने अवषधि
कौशाम्‍बी जनपद के नगर आमाकुंआ के आस पास के गांवों के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सालय के लिए और यहा के लोगो के लिए प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ ज्ञानेस्वर सिंह संजीवनी साबित हो रहे है | इनके आने अस्पताल को नई उर्जा के साथ जान डाल दी है |वही कस्बे के लोगो को अपनी सेवा से लाभ पहुंचाकर आयुर्वेद मे विश्वास जगा दिया

कोरोना काल मे आयुर्वेदिक चिकित्सालय मे आने वाले मरीजो को पूरी एहतियात के साथ इलाज करना दैनिक कार्य है बता दें कि कस्बे मे काफी समय से आयुर्वैदिक चिकित्सालय खुला है लेकिन चिकित्सक की नियुक्ती न होने से अस्पताल बद से बदतर स्थित मे था यदि चिकित्क की नियुक्ती हुई भी तो कभी आए नही हमेशा एक फर्मासिष्ट ही चिकित्सक के रूप में काम करते रहे लेकिन नव नियुक्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा.ज्ञानेस्वर सिंह ने कार्यभार ग्रहण करते ही नई उर्जा के साथ अस्पताल की व्यवस्था मे बडा सुधार कर लोगो का इलाज मनोयोग से शुरु कर ,लोगो का दिल जीत लिया आज उन्होंने मुस्तफाबाद के भास्कर दुबे,विजया चौराहा से साहिल दिवाकर,शशी चौधरी, आदि को इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दवा दी गयी

इस कोरोना काल मे क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी कौशाम्बी के निर्देशानुसार राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय आमाकुंआ के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ज्ञानेस्वर सिंह कौशाम्बी के अब तक आधा दर्जन गांवो में जैसे ऐतिहासिक स्थल संकट मोचन आश्रम (जोटका तालाब) गढ़वा कोसम खिराज कोसम इनाम चकगुलाम आलम आमाकुंआ विजया पाली मे घर घर जाकर जन मानस को कोरोना से बचाव शोसल डिस्टेसिंग मास्क की अनिवार्यता एवं स्वास्थ्य दिनचर्या के पालन हेतु जागरुक कर रहे है रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाली आयुर्वेदिक औषधियों जैसे सेशमनी बटी, अगस्त्य हरीतकी, आदि का प्रतिदिन वितरण किया जा रहा है | डाक्टर सिंह ने बताया कि कौरोना से बचाव मे आयुर्वेद काफी उपयोगी सिद्ध हो रहा है उन्होने लोगो से अपील की है कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए तुलसी अश्वगंधा गिलोय काली मिर्च एवं हल्दी आदि का नियमित प्रयोग करे प्राणायाम एवं योग का प्रतिदिन अभ्यास करे स्वास्थ सम्बंधी समस्या के लिए निकटतम आयुर्वेद विशेषज्ञ से परामर्श ले।

आयुर्बेदिक चिकित्सालय में नही है औषधि

आयुषकाढा,अस्वगंधारिष्ट,अन्य इम्युनिटी बढ़ाने कि दवाये चिकित्सक क्याकरें।

You may also like

Leave a Comment