Home प्रादेशिक कोविड माहमारी में सरकारी विवस्थाये नाकाफ़ी साबित, मंहगाई और बेरोजगारी ने तोड़ी कमर

कोविड माहमारी में सरकारी विवस्थाये नाकाफ़ी साबित, मंहगाई और बेरोजगारी ने तोड़ी कमर

by Shrinews24
0 comment

कोविड माहमारी में सरकारी विवस्थाये नाकाफ़ी साबित, मंहगाई और बेरोजगारी ने तोड़ी कमर ।

श्री न्यूज़24 से मुकेश रत्नाकर रामनगर नैनीताल उत्तराखंड ।

रामनगर नैनीताल, कॅरोना माहमारी के चलते मचा हाहाकार और बेरोजगारी, माहमारी का तांडव उत्तराखंड में प्रचण्ड रूप में है।
कोविड महामारी के दौर में सरकारी व्यवस्थाएं नाकाफी साबित हो रही हैं ऐसे में मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों की तरफ रुख करना पड़ता है जोकि हर व्यक्ति के बस की बात नहीं है क्योंकि वह बहुत ज्यादा महंगे हैं। इस को ध्यान में रखते हुए लोगों की मांग पर सरकार ने अधिकतम दरें तय करी हैं परंतु वर्तमान में सरकार के लोगों व कुछ स्वास्थ्य माफियाओं के गठजोड़ के चलते अस्पताल मरीजों से कई गुना ज्यादा शुल्क वसूल रहे हैं जो कि बिल्कुल गलत है और कानूनी अपराध भी है। ऐसा होने के बावजूद भी सरकार ने अपनी आंखें बंद कर रखी है।
ऐसी परिस्थितियों को देखते हुए उत्तराखंड युवा कांग्रेस ने फैसला लिया है की सरकार को नींद से जगाने के लिए व तय की गई की दरों पर ही लोगों का इलाज सुनिश्चित कराने के लिए 19 मई को प्रदेश भर में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने घरों से सांकेतिक धरना देने का काम करेंगे।

यूथ कांग्रेस ने जनता से निवेदन किया है कि इस मुहिम का ज्यादा से ज्यादा समर्थन करें ताकि लोगों की आवाज को बुलंद किया जा सके।इस क्रम में योगेन्द्र मनराल का कहना है।इस संकट की घड़ी में हमें लोगों को हर सम्भव प्रयास कर।अपने स्तर पर और मानवता के नाते सहयोग करना चाहिए।

You may also like

Leave a Comment